Propeller

आईपीएल के सभी मालिकों ने आपस में की कॉन्फ्रेंस कॉल, बड़ी खबर।

आईपीएल 2020पूरी तरीके से खतरे में आ गया है और अब हो सकता है कि आईपीएल इस साल देखने को ना मिल पाए ऐसा मैं नहीं कह रहा हूं ऐसा कह रहा है बीसीसीआई और आईपीएल की पूरी टीम और फैंस क्योंकि जिस तरीके से हालात इस समय गंभीर होते जा रहे हैं उसे देखते हुए लग रहा है कि संभवत इस बार आईपीएल होगा भी तो बहुत छोटा होगा इसी बीच आईपीएल के सभी मालिकों ने आपस में एक बड़ी बातचीत की है जो आप लोग आ गए पढ़ सकते हैं।


Third party image reference
आइपीएल की आठ फ्रेंचाइजियों की सोमवार को कांफ्रेंस कॉल हुई। एक फ्रेंचाइजी के अधिकारी ने कहा, 'सोमवार की बैठक में कुछ भी ठोस चर्चा नहीं की गई। यह सिर्फ एक आम बैठक थी। 48 घंटों में स्थिति नहीं बदली है इसलिए आइपीएल के रद करने के बारे में बात करना अभी ठीक नहीं है। हमें इंतजार करना होगा और देखना होगा। हम जायजा लेने के लिए साप्ताहिक आधार पर यह कांफ्रेंस कॉल करते रहेंगे।'
कोरोना ने किया है परेशान
आपको बता दें कि एक अन्य फ्रेंचाइजी के अधिकारी ने कहा, 'कोरोना के कारण चीजें थोड़ी बहुत बिगड़ रहीं हैं। स्कूल, कॉलेज, मॉल, जिम और थिएटर आदि सभी बंद हैं। ऐसे में यह भी हो सकता है कि लीग इस सत्र के लिए रद कर दी जाए। बीसीसीआइ के साथ हुई बैठक में सर्वसम्मति से यह फैसला लिया गया था कि सुरक्षा पहले है और हम ऐसी स्थिति में साथ हैं। देखते हैं कि चीजें कैसे होती हैं, हो सकता है कि इस साल लीग नहीं हो।'


Third party image reference
जब उनसे पूछा गया कि क्या फ्रेंचाइजियां इस नुकसान के लिए तैयार हैं तो अधिकारी ने कहा, 'कोई और विकल्प नहीं है। हमें 15-20 करोड़ रुपये का नुकसान होगा, जो हमें वेतन देने और बाकी चीजों से होगा। यह पैसा लीग के सफल आयोजन से आता है लेकिन कुछ अन्य नुकसान भी हैं। टिकट आदि चीजों का बीमा है, लेकिन यह इस तरह का नुकसान है जो लीग के नहीं होने पर फ्रेंचाइजियों को ही उठाना पड़ेगा लेकिन हमें पता है कि कोई भी चीज इंसान की सुरक्षा से बढ़कर नहीं है।'
विदेशी खिलाड़ी नहीं आएंगे भारत?
बीसीसीआइ और आइपीएल फ्रेंचाइजियों ने सरकार द्वारा विदेशी खिलाड़ियों को लीग में खेलने की मंजूरी देने की बात की थी, लेकिन सवाल यह है कि क्या विदेशी बोर्ड अपने खिलाड़ियों को इस स्थिति में यहां आने की मंजूरी देंगे। अधिकारी ने आगे कहा, 'हम जहां विदेशी खिलाड़ियों के आने और उनके वीजा की बात कर रहे हैं, वहीं हमें यह भी देखना होगा कि क्या विदेशी बोर्ड अपने खिलाड़ियों को यहां आने की मंजूरी देंगे और क्या सरकार खिलाड़ियों के नियम में नरमी बरतेगी।


Third party image reference
अभी सभी बोर्ड चाहते हैं कि आइपीएल हो, लेकिन आप नहीं जानते कि महीने के आखिरी में क्या फैसला लिया जाना है। यह इस पर निर्भर है कि क्या अंत में स्थिति में कोई हैरान करने वाला बदलाव आएगा।' कोरोना वायरस के कारण ही भारत सरकार ने 11 मार्च को कुछ अधिकारियों को छोड़कर विदेश से आने वाले सभी लोगों का वीजा 15 अप्रैल तक के लिए रोक दिया है।
आपको क्या लगता है क्या आईपीएल इस बार नहीं होगा या फिर होगा अपनी राय हमें कमेंट करें और यह भी बताएं कि अगर होगा भी तो कब से शुरू हो सकता है अपनी संभावित तारीख हमें कमेंट जरूर करें।

Post a Comment

0 Comments